राशिफल

वृश्चिक – Scorpio

समय मध्यम है। आंख व गले संबंधी परेशानी होना संभव होगा। बड़े-बुजुर्ग की सलाह को अनदेखा न करे तथा समय व धन का सदुपयोग करे, भाग-दौड़ व परिश्रम बना रहेगा तथा कुटुम्ब व परिवार की जिम्मेदारियां बढ़ेंगी।

वृश्चिक – Scorpio

वृश्चिक राशि वालों के लिए जुलाई माह का तृतीय सप्ताह शुभ फल देने वाला रहेगा। चन्द्रमा लग्न से चतुर्थ भाव तक गोचर करेंगे।

16-17 जुलाई को चन्द्रमा वृश्चिक राशि लग्न से गोचर करेंगेे। समय धीरे-धीरे अनुकूल होगा। रुका हुआ धन प्राप्त होगा। परंतु कार्यस्थल पर आपको अपने अधिकारियों व कर्मचारियों के विरोध का सामना करना पड़ सकता है। सभी कार्य अधिक प्रयत्न में कम सफलता देने वाले होंगे। यदि आप नया कार्य शुरू करेंगे तो या अपने कार्यस्थल में परिवर्तन करेंगे तो उसमें विरोध का सामना करना पड़ सकता है।

18-19 जुलाई को चन्द्रमा धनु राशि द्वितीय भाव से गोचर करेंगे। इसलिए समय पूर्णरूप से मनोनुकूल है। आपकी सभी प्रकार की आवश्यकताएं आसानी से पूरी होंगी। आप भावी सफलता के लिए एक रूपरेखा बनायेंगे। आप उन्नति के मार्ग पर अग्रसर होंगे। रुका हुआ धन प्राप्त होगा। कार्यक्षेत्र में आ रही परेशानियां प्रयत्न करने से दूर होंगी और उन्नति का मार्ग प्रशस्त होगा।   

20-21 जुलाई को चन्द्रमा मकर राशि तृतीय भाव से गोचर करेंगे। आपको अपने भाई-बहनों का अच्छा सहयोग प्राप्त होगा। आपसी मतभेद दूर होंगे। आपकी साहित्य लेखन, कविता व ज्योतिष शास्त्र में रुचि पैदा होगी। कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। घर में सुख-शांति महसूस होगी।

22-23 जुलाई को चन्द्रमा कुंभ राशि चतुर्थ भाव से गोचर करेंगे। समय प्रतिकूल है इसलिए अचानक परेशानी महसूस होगी। आप वाद-विवाद से दूर रहें। झगड़े-फसाद, निराशा व उदासी की संभावनाएं नजर आ रही हैं। अनावश्यक खर्चों से बचें। यात्रा न करें क्योंकि यात्रा कष्टकारी रहेगी।
 

वृश्चिक – Scorpio

वृश्चिक राशि वालों के लिए जुलाई माह का मासिक साप्ताहिक भविष्य

वृश्चिक राशि वालों के लिए जुलाई माह के प्रारंभ में चन्द्रमा वृषभ राशि सप्तम भाव में, सूर्य, बुध व शुक्र मिथुन राशि अष्टम भाव में, गुरु-राहु सिंह राशि दशम भाव में, मंगल तुला राशि द्वादश भाव में, शनि वृश्चिक राशि प्रथम भाव लग्न में और केतु कुंभ राशि चतुर्थ भाव से गोचर कर रहे हैं।

1-7 जुलाई वृश्चिक राशि वालों के लिए जुलाई माह का प्रथम सप्ताह उतार-चढ़ाव वाला रहेगा। 1-2 जुलाई को चन्द्रमा वृषभ राशि सप्तम भाव से गोचर कर रहे हैं। इसलिए समय मनोनुकूल है मानसिक शांति मिलेगी। दाम्पत्य सुख में वृद्धि होगी। आपस में आपसी मतभेद दूर होंगे। साझेदारी के कारोबार में लाभ होगा। कर्मचारी व अधिकारी वर्ग से सहयोग प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। यात्रा लाभकारी रहेगी।

3-4 जुलाई को चन्द्रमा मिथुन राशि अष्टम भाव से गोचर करेंगे। समय प्रतिकूल है इसलिए आपके सभी कार्यों में विघ्र-बाधा आ सकती है। अनावश्यक खर्चों में वृद्धि होगी। यदि जरूरी न हो तो यात्रा न करें। कोई नया कार्य शुरू न करें और न ही कोई परिवर्तन करें। ऐसा करने पर भारी नुकसान होने की संभावना है। अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें। खान-पान का ध्यान रखें। स्वास्थ्य मध्यम रहेगा। वाहन ध्यान से चलाएं क्योंकि दुर्घटना होने की संभावना है। 5 जुलाई की दोपहर तक समय खराब है।

5-6-7 जुलाई को चन्द्रमा कर्क राशि स्वगृही नवम भाव से गोचर करेंगे। समय की अनुकूलता जारी है इसलिए सभी परिस्थितियां अनुकूल रहेंगी। पीछे से चली आ रही परेशानियां धीरे-धीरे दूर होंगी। धर्म के प्रति आस्था बढ़ेगी और धार्मिक यात्रा होगी। यात्रा सुखद व लाभकारी रहेगी। उच्च अधिकारी व राजनेताओं से मेल-मुलाकात लाभकारी रहेगी। रुके हुए कार्य बनेंगे। परिवार के सहयोग से रुका हुआ धन प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी और मानसिक शांति प्राप्त होगी।

8-15 जुलाई वृश्चिक राशि वालों के लिए जुलाई माह का दूसरा सप्ताह अति उत्तम फल देने वाला रहेगा। इस सप्ताह चन्द्रमा दशम भाव से लग्न तक गोचर करेंगे। 8-9 जुलाई को चन्द्रमा सिंह राशि दशम भाव से गोचर करेंगे। समय मनोनुकूल है। आप जिस कार्य में हाथ डालेंगे उसमें सफलता प्राप्त करेंगे। पद-प्रतिष्ठा का ग्राफ दिन-प्रतिदिन ऊपर की ओर बढ़ेगा। आपका प्रभाव व पराक्रम आश्चर्य ढंग से बढ़ेगा। उधारी वसूली के लिए यह समय बहुत अच्छा है।

10-12 जुलाई को चन्द्रमा कन्या राशि एकादश भाव से गोचर करेंगे। पीछे से चली आ रही सफलता आगे भी जारी रहेगी। आप मांगलिक कार्यों में व्यस्त रहेंगे। घर में सुख-शांति बढ़ेगी। घर की जरूरत की चीजें आसानी से उपलब्ध होंगी। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी।

13-14 जुलाई को चन्द्रमा तुला राशि द्वादश भाव से गोचर करेंगे। समय प्रतिकूल है। सभी कार्यों में रुकावट व परेशानी महसूस होगी इसलिए सचेत रहें। यदि जरूरी न हो तो यात्रा न करें। आयात-निर्यात के कार्यों को स्थगित रखें। आगे आने वाला समय ठीक है, थोड़ा इंतजार करने में लाभ है। यदि आप संयुक्त परिवार में रहते हैं तो परिवार में आपसी विरोधाभास रहेगा। विचारों में मतभेद के कारण अपने कारोबार व व्यवसाय में पूरा ध्यान नहीं दे पायेंगे।

15 जुलाई को चन्द्रमा वृश्चिक राशि प्रथम भाव से गोचर करेंगे। समय थोड़ा अनुकूल होगा। स्वास्थ्य में सुधार आयेगा। नये लोगों से मिलना-जुलना बढ़ेगा। उनके सहयोग से सभी कार्यों में सफलता प्राप्त होगी और आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। मानसिक शांति बढ़ेगी। 

16-23 जुलाई वृश्चिक राशि वालों के लिए जुलाई माह का तृतीय सप्ताह शुभ फल देने वाला रहेगा। चन्द्रमा लग्न से चतुर्थ भाव तक गोचर करेंगे। 16-17 जुलाई को चन्द्रमा वृश्चिक राशि लग्न से गोचर करेंगेे। समय धीरे-धीरे अनुकूल होगा। रुका हुआ धन प्राप्त होगा। परंतु कार्यस्थल पर आपको अपने अधिकारियों व कर्मचारियों के विरोध का सामना करना पड़ सकता है। सभी कार्य अधिक प्रयत्न में कम सफलता देने वाले होंगे। यदि आप नया कार्य शुरू करेंगे तो या अपने कार्यस्थल में परिवर्तन करेंगे तो उसमें विरोध का सामना करना पड़ सकता है।

18-19 जुलाई को चन्द्रमा धनु राशि द्वितीय भाव से गोचर करेंगे। इसलिए समय पूर्णरूप से मनोनुकूल है। आपकी सभी प्रकार की आवश्यकताएं आसानी से पूरी होंगी। आप भावी सफलता के लिए एक रूपरेखा बनायेंगे। आप उन्नति के मार्ग पर अग्रसर होंगे। रुका हुआ धन प्राप्त होगा। कार्यक्षेत्र में आ रही परेशानियां प्रयत्न करने से दूर होंगी और उन्नति का मार्ग प्रशस्त होगा।   

20-21 जुलाई को चन्द्रमा मकर राशि तृतीय भाव से गोचर करेंगे। आपको अपने भाई-बहनों का अच्छा सहयोग प्राप्त होगा। आपसी मतभेद दूर होंगे। आपकी साहित्य लेखन, कविता व ज्योतिष शास्त्र में रुचि पैदा होगी। कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। घर में सुख-शांति महसूस होगी।

22-23 जुलाई को चन्द्रमा कुंभ राशि चतुर्थ भाव से गोचर करेंगे। समय प्रतिकूल है इसलिए अचानक परेशानी महसूस होगी। आप वाद-विवाद से दूर रहें। झगड़े-फसाद, निराशा व उदासी की संभावनाएं नजर आ रही हैं। अनावश्यक खर्चों से बचें। यात्रा न करें क्योंकि यात्रा कष्टकारी रहेगी। 

24 से 31 जुलाई वृश्चिक राशि वालों के लिए जुलाई माह का चतुर्थ सप्ताह शुभ फल देने वाला है। पूरे सप्ताह चन्द्रमा पंचम भाव से अष्टम भाव तक गोचर करेंगे।  24-25 जुलाई को चन्द्रमा मीन राशि पंचम भाव से गोचर कर रहे हैं। समय मनोनुकूल है। आप विभिन्न स्रोतों से आय में बढ़ोतरी पर ध्यान केंद्रित करेंगे। आपको पैतृक धन उपहार में मिल सकता है। संतान सुख में वृद्धि होगी। संतान से पूरा सहयोग प्राप्त होगा।  

26-28 जुलाई तक चन्द्रमा मेष राशि षष्ठ भाव से गोचर करेंगे। सभी प्रकार की प्रतिस्पर्धाओं में सफलता मिलेगी। शत्रु पक्ष दबाव में रहेगा। पूंजी निवेश करने के लिए समय अनुकूल है। व्यापार व व्यवसाय के लिए यात्रा सुखद रहेगी। मनोनुकूल फल प्राप्त होगा। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी।

29-30 जुलाई को चन्द्रमा वृषभ राशि सप्तम भाव से गोचर कर रहे हैं। इसलिए आप उदर रोग से पीडि़त हो सकते हैं। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। यात्रा जरूरी हो तभी करें।

31 जुलाई को चन्द्रमा मिथुन राशि अष्टम भाव से गोचर करेंगे। समय प्रतिकूल है इसलिए सचेत रहें। कोई नया कार्य न करें। यात्रा कष्टकारी रहेगी। किसी भी कार्य में पूंजी निवेश न करें। समय अनुकूल होने का इंतजार करें। क्योंकि आगे आने वाला समय अनुकूल है।